​ ​ बेहतर अवसर तलाशने के प्रति 70 फीसदी भारतीय आश्वस्त : लिंक्डइन
Saturday, December 15, 2018 | 8:37:33 PM

RTI NEWS » Social Interview » Interviews


बेहतर अवसर तलाशने के प्रति 70 फीसदी भारतीय आश्वस्त : लिंक्डइन

Thursday, November 29, 2018 15:28:24 PM , Viewed: 488
  •  नई दिल्ली, 28 नवंबर | रोजगार बाजार की चिंताओं के बावजूद 70 फीसदी भारतीय लोग अगले साल बेहतर अवसर पाने के लिए आश्वस्त हैं। लिंक्डइन के बुधवार को प्रकाशित हुए सर्वेक्षण में यह खुलासा हुआ है।

     एशिया-प्रशांत क्षेत्र में लिंक्डइन अपॉर्चुनिटी इंडेक्स (एलओआई) के पहले संस्करण के अनुसार, तीन में से लगभग दो (62 फीसदी) भारतीय अगले 12 महीनों में सामान्य आर्थिक स्थिति के सुधार के प्रति आशान्वित हैं।

    इस सूचकांक में वह सब कुछ बताया गया है कि लोग कैसे अवसर और उन अवसरों के बीच आने वाले अवरोधों को पहचानते हैं।

    पेशेवर नेटवर्किं ग प्लेटफॉर्म द्वारा किए गए सर्वेक्षण में एशिया-प्रशांत क्षेत्र के नौ बाजारों - भारत, ऑस्ट्रेलिया, चीनी मुख्य क्षेत्र, हांगकांग, इंडोनेशिया, जापान, मलेशिया, फिलीपींस और सिंगापुर के 11,000 लोगों का अध्ययन किया।

    एलओआई में शीर्ष दो स्पॉट पर इंडोनेशिया ने कब्जा कर लिया, इसके बाद भारत का नंबर आता है।

    वहीं दूसरी तरफ जापान, हांगकांग और ऑस्ट्रेलिया जैसे और ज्यादा विकसित बाजार में पीछे हैं क्योंकि इन बाजारों के लोगों ने आर्थिक दृष्टिकोण पर चिंता व्यक्त की है और अपने योग्य अवसरों में सफलता पाने के प्रति सामान्य रूप से ज्यादा सजग करते हैं।

    लिंक्डइन के एशिया-प्रशांत क्षेत्र के प्रबंध निदेशक ओलीवियर लीग्रांड ने कहा, "समय के साथ, अवसरों और अवरोधों के प्रति लोगों के मनोभावों का पता लगाने पर हम उम्मीद कर सकते हैं कि हम अवसरों की मांग और आपूर्ति में और ज्यादा संतुलन कायम रख सकते हैं।"

    एपेक के अन्य हिस्सों की तरह, भारतीय करियर एडवांटेज को अपना मुख्य अवसर मानते हैं।

    एलओआई के अनुसार, कोई अगर खुद का व्यापार शुरू करता है तो भारतीय लोगों के लिए वह भी शीर्ष तीन अवसरों में से है।

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।