​ ​ केन्द्र सरकार ने मांगी अन्ना की मांगे, हजारे ने खत्म किया अनशन
Monday, December 17, 2018 | 4:46:42 PM

RTI NEWS » Social Interview » Interviews


केन्द्र सरकार ने मांगी अन्ना की मांगे, हजारे ने खत्म किया अनशन

Thursday, March 29, 2018 20:35:23 PM , Viewed: 3476
  • नई दिल्लीः सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने केंद्र सरकार द्वारा उनकी मांगें माने जाने के बाद गुरुवार को अपनी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल समाप्त कर दी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेंद्र शेखावत ने गुरुवार शाम हजारे से मुलाकात कर केंद्र सरकार द्वारा उनकी मागें स्वीकार करने की सूचना दी।

    बीते शुक्रवार को उपवास पर बैठे हजारे ने गुरुवार को उपवास तोड़ने के बाद कहा कि सरकार ने उनकी मांगों के क्रियान्वयन की कोई समयसीमा नहीं बताई है। इसलिए अगर छह महीने में कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई तो वह सितंबर में फिर से भूख हड़ताल करेंगे। 23 मार्च से सशक्त लोकपाल और किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग लेकर रामलीला मैदान पर बैठे समाजसेवी अन्ना हजारे की सारी मांगे लेकर बैठे थे.

    सका ऐलान खुद अन्ना के मंच से केंद्रीय कृषि मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने किया। सरकार ने डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य की बात मान ली है। यही नहीं अन्ना का अनशन खत्म कराने के लिए गिरीश महाजन और देवेंद्र फडणवीस रामलीला मैदान पहुंच चुके हैं।

    अन्ना ने बताया कि सरकार ने उनकी फसल पर डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य देने की बात सरकार ने मानी है। किसान कर्ज लेकर जो खेती करता है उसका नुकसान होने पर सरकार उसपर 50 प्रतिशत अधिक भुगतान करेगी। लोकपाल पर भी जल्द से जल्द कार्रवाई की बात की है।

    दिल्ली के रानलीला मैदान में 23 मार्च से अनशन पर बैठे अन्ना हजारे की लगातार तबीयत खराब हो रही है। बताया जा रहा है कि अन्ना का अनशन खत्म काने के लिए खुद महाराष्ट्र के सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पहुंच रहे हैं। दोनों अन्ना हजारे को जूस पिलाकर अनशन खत्म कराएंगे।

    अनशन के कारण बिगड़ रही थी तबीयत
    अनशन की वजह से अन्ना का वजन 5.5 किलोग्राम तक कम हो चुका है. उनका ब्लड प्रेशर भी 186/100 है जो काफी ज्यादा है. शुगर के स्तर में भी काफी गिरावट आई है. ऐसे में डॉक्टरों द्वारा उन्हें ज्यादा से ज्यादा आराम करने और पानी पीने की सलाह दी गई है. इसके अलावा बुधवार को अन्ना के साथ अनशन कर रहे कई अनशनकारियों की हालत खराब होने पर उन्हें बुधवार को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. अन्ना की लगातार तबीयत बिगड़ती देख सरकार ने उनकी सभी मांगों मान ली हैं. जानकारी के मुताबिक पीएमओ के ड्राफ्ट को अन्‍ना ने मंजूरी दे दी है.

    ये थीं अन्‍ना की मांगें
    - किसानों के कृषि उपज की लागत के आधार पर डेढ़ गुना ज्‍यादा दाम मिले.
    - खेती पर निर्भर 60 साल से ऊपर उम्र वाले किसानों को प्रतिमाह 5 हजार रुपये पेंशन.
    - कृषि मूल्य आयोग को संवैधानिक दर्जा तथा सम्पूर्ण स्वायत्तता मिले.
    - लोकपाल विधेयक पारित हो और लोकपाल कानून तुरंत लागू किया जाए.
    - लोकपाल कानून को कमजोर करने वाली धारा 44 और धारा 63 का संशोधन तुरंत रद्द हो.
    - हर राज्य में सक्षम लोकायुक्त नियुक्‍त किया जाए.
    - चुनाव सुधार के लिए सही निर्णय लिया जाए.

Reporter : ArunKumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।