​ ​ मोदी के मन कि बात पर, रिंकू झा के तीखे सवाल
Saturday, December 7, 2019 | 6:01:07 AM

RTI NEWS » RTI » RTI News


मोदी के मन कि बात पर, रिंकू झा के तीखे सवाल

Friday, October 4, 2019 22:15:31 PM , Viewed: 1707
  • बिहार, पटना 
    सामाजिक पत्रकार: रिंकू झा

    4 अक्टूबर  2019 :  मन कि बात से बेहतर होता यदि देश के प्रधानमंत्री ने सोचा होता " सबका विचार " । जहाँ कर्ता मौन होकर सुनता है, न कि सुनाता है । पर यहाँ सुनाने के चक्कर में उन्हें मैं हीं मैं नजर आया इसीलिये गरीब जनता का दर्द नजर नहीं आया । न सैनिकों का दर्द दिखा, न किसानों का दर्द दिखा, न राज्यों का दर्द दिखा, न युवाओं का दर्द दिखा, न बेटी पर हो रहे रोज बालात्कार दिखा और न दिख रहा है । उन्हें दिखा भी और उसमें सुधार भी किया गया, क्या जानते हैं ? तो जानये कॉरपोरेट जगत उन्हें जरुर दिखा । क्योंकि सरकार को मखमली कुर्सी देता है, इसीलिये देश के प्रधानमंत्री ने ऐंजल टैक्स खत्म और कॉरपोरेट टैक्स कम करके उस जगत को तौहफा दिया । 

    और गरीब जनता बेचारा वो मखमली कुर्सी नहीं दे सकता है, इसीलिये गरीबों पर अतिरिक्त कर का भार लाद दिया । 
    आजादी का लहर उठा था भारत में कारण यही अतिरिक्त कर गरीब जनता पर लादा गया था । तभी जीत गये क्योंकि भारत में हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख और जातियों का यह आडंबर नहीं था । 

    आज हार जाओगे, कारण जो जहर लेकर तुम जी रहे हो वही जहर पीकर मैं भी जी रहा हूँ ।  आज दो बेटियों का बाप हर-हर मोदी घर-घर मोदी कहता है, लेकिन जब किसी बेटी के साथ कुछ होता है, वह मौन रह जाता है । 

    राजनीति कि गंदगी ने हमारे दिमाग को कचड़ा का घर बना लिया और जहाँ कचड़े का ढ़ेर रहेगा वहाँ गरीब के सिवा ओर कोई नहीं दिखेगा ।उस कचड़े को कोई बीनता नजर आता है तो कोई जिंदगी गुजारता । देश के प्रधानमंत्री को देखकर मुझे हाथ में केतली लिये एक दस साल का बालक नजर आता है जो आसमान से जाते हुए हवाई जहाज को देखकर यह सोच रहा है कल मैं भी उसमें बैठूंगा । 

    बैठो कौन मना करता है साहब ! लेकिन अपने पैसे से बैठो, न कि गरीब जनता के पैसे से । सरकार ख्वाईशें अक्सर महंगी होती है, न भरोसा हो तो युवाओं से पूछ लें, आपको तो मन कि बात करने कि आदत है फिर सबका विचार कैसे आयेगा । 

Reporter : vivekkumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।