​ ​ अलवर को नए साल पर मिलेगा 24,975 करोड़ का नया तोहफा..!
Tuesday, March 19, 2019 | 4:14:02 PM

RTI NEWS » RTI » RTI News


अलवर को नए साल पर मिलेगा 24,975 करोड़ का नया तोहफा..!

Thursday, December 20, 2018 18:05:23 PM , Viewed: 4421
  • अलवरः अलवर के लिए नए साल से पहले रेलवे ने एक नया तोहफा दिया है, केंद्र सरकार ने अलवर को आरआरटीएस (रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) से जोड़ने के लिए मंजूरी दे दी है, एनसीआरटीसी के अनुसार दिल्ली से अलवर का यह रुट 165 किलोमीटर का होगा, जिसे तीन चरण में पूरा किया जाएगा, जिसमे लगभग 24 हजार 975 करोड़ का खर्चा आएगा।

    अलवर एनसीआर में होने के बावजूद उसे इसका पूरा लाभ नही मिल पाया, इसे लेकर समय समय पर आवाज भी उठती रही है, पिछले यूपीए कार्यकाल से दिल्ली से अलवर तक रेपिड ट्रेन चालाए जाने की बात सामने आई थी जिसके लिए 37 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट तैयार हुआ था, जिसमे अलवर को हाई स्पीड ट्रेन से जोड़ने के लिए 180 किलोमीटर का ट्रैक तैयार करने का प्रस्ताव था, लेकिन सरकार जाने के बाद सब ठंडे बस्ते में चला गया था, अब एक बार फिर अलवर के लिए अच्छी खबर आई है जिसमे एनसीआरटीसी बोर्ड की बैठक में इस प्रोजेक्ट की डीपीआर को मंजूरी दे दी गयी है, यह काम तीन चरणों मे पूरा होगा जिसमें पहले चरण में 106 किलोमीटर हिस्से का निर्माण होगा, इसमे सराय काले खा से गुरुग्राम, शाहजहांपुर, नीमराना व बहरोड़ तक काम होगा इसमे 16 स्टेशन होंगे, इस में 71 किलोमीटर एलिवेटेड ट्रेक होगा और 35 किलोमीटर अंडर ग्राउंड हिस्सा होगा, दिल्ली से बहरोड़ तक 106 किलोमीटर का सफर महज 70 मिनट में पूरा होगा, इस ट्रैक पर 180 किलोमीटर की रफ्तार से ट्रेन दौड़ेगी, ट्रेन में 9 कोच होंगे, खास बात इसमे हवाई जहाज की तरह बैठने की सीटें होंगी, और हर पांच से 10 मिनट में ट्रेन मिलेंगी।

    इस प्रोजेक्ट में पहले चरण का काम 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है, इसके बाद दूसरे ओर दूसरे चरण में सौतानाल तक लाइन तैयार होगी और तीसरे चरण में अलवर तक का काम होगा।

    इस मामले में राजनैतिक लाभ लेने के लिए भाजपा और कोंग्रेस इसे अपनी अपनी सरकार की उपलब्धि मान रहे है।
     
    भले ही दोनो राजनैतिक दल इसे अपनी अपनी उपलब्धि गिना रहे हो, पर इतना जरूर है अलवर के लिए यह अच्छी खबर तो है ही, इसमे हम आपको यह भी बता दे 24 हजार 975 करोड़ के इस बजट में 20 प्रतिशत केंद्र सरकार, 20 प्रतिशत राज्य सरकार व 60 प्रतिशत विभिन्न वित्तीय मदद से उपलब्ध कराया जाएगा।
     

Reporter : Arunkumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।