​ ​ सावधान..! 'अभी भी सुरक्षित नहीं है आपका फेसबुक डाटा'
Wednesday, September 26, 2018 | 1:31:30 AM

RTI NEWS » RTI » News For Your Rights


सावधान..! 'अभी भी सुरक्षित नहीं है आपका फेसबुक डाटा'

Friday, March 30, 2018 21:08:45 PM , Viewed: 6347
  • लंदनः ब्रिटिश परामर्शदाता कंपनी कैंब्रिज एनलिटिका के दावों के बावजूद कि उसने 5.5 करोड़ फेसबुक उपभोक्ताओं के डेटा डिलीट कर दिए हैं, डेटा का बहुत बड़ा भाग अभी भी नियंत्रण से बाहर है।

    ब्रिटेन के 'चैनल 4 न्यूज' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कैंब्रिज एनलिटिका के एक सूत्र के विवरण से अमेरिका के कोलोराडो राज्य के 136,000 लोगों के डेटा 'हर व्यक्ति के व्यक्तित्व व मनोवैज्ञानिक प्रोफाइल के साथ गुप्त जगह पर हैं।'

    रपट में कहा गया है, "कैंब्रिज एनलिटिका द्वारा 2014 की तारीख से डेटा का इस्तेमाल आसानी से प्रभावित होने वाले निवासियों को विशेष संदेश देने के लिए किया गया।"

    इससे पहले कैंब्रिज एनलिटिका ने दावा किया था कि उसने पब्लिक डोमेन से डेटा को खत्म कर दिया है।

    कंपनी ने उपभोक्ताओं का डेटा एक फेसबुक एप से सालों पहले प्राप्त किया था, जिसे तथाकथित तौर पर एक मनोवैज्ञानिक शोध उपकरण बताया गया था। हालांकि, कंपनी उस सूचना के लिए अधिकृत नहीं थी।

    कैंब्रिज एनलिटिका पर ब्रिटेन के 2016 के ब्रेक्सिट जनमत संग्रह व 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के परिणाम पर असर डालने का आरोप है। अमेरिकी चुनाव परिणाम पर असर की वजह से डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस पहुंच गए।

    ब्रिटिश संसद के समक्ष हाल में अपनी उपस्थिति के दौरान पूर्व कैंब्रिज एनलिटिका के प्रोग्रामर क्रिस्टोफर वाइली ने यह कहकर स्तब्ध कर दिया कि निसंदेह उनके पूर्व नियोक्ता ने ब्रेक्सिट जनमत संग्रह में और 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में गड़बड़ी की और कानून को तोड़ा।
     

Reporter : ArunKumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।