​ ​ धमाकेदार होगी दीपावली-2018 या पटाखे होंगे प्रतिबंधित...मंगलवार को तय करेगा सुप्रीम कोर्ट
Thursday, November 22, 2018 | 5:12:59 PM

RTI NEWS » RTI » News For Your Rights


धमाकेदार होगी दीपावली-2018 या पटाखे होंगे प्रतिबंधित...मंगलवार को तय करेगा सुप्रीम कोर्ट

Monday, October 22, 2018 19:01:02 PM , Viewed: 1452
  • नई दिल्ली: देश भर में पटाखों की बिक्री पर रोक की माँग के मामले में सुप्रीमकोर्ट मंगलवार को फैसला सुनाएगा , इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 28 अगस्त को सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रख लिया था। सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने देशभर में पटाखों की बिक्री पर बैन का विरोध किया है.

    केंद्र ने पटाखों पर रोक का विरोध करते हुए सुप्रीम कोर्ट से कहा कि रोक की बजाय पटाखों के उत्पादन को लेकर नियम बनाना बेहतर कदम है. एल्युमिनियम और बेरियम जैसी सामग्री का इस्तेमाल रोकना सही होगा.

    तमिलनाडु सरकार, पटाखा उत्पादकों और विक्रेताओं ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- बिना किसी ठोस वैज्ञानिक रिसर्च के कोर्ट ने पिछले साल दिल्ली में पटाखों की बिक्री रोक दी थी. इससे लाखों लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ. प्रदूषण के लिए पटाखों से ज्यादा कई अन्य चीजें जिम्मेदार हैं.

    इस मामले में पिछली सुनवाई में न्यायमूर्ति एके सीकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने कहा था 'क्या हमें समग्र दृष्टिकोण अपनाना चाहिए और प्रदूषण में योगदान देने वाली हर चीज पर प्रतिबंध लगाना चाहिए या अस्थायी दृष्टिकोण अपनाना चाहिए और केवल पटाखों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए?' सुप्रीम कोर्ट ने इस पर भी गौर किया कि वायु प्रदूषण शिशुओं के लिए बेहद खतरनाक है और जहरीले पटाखे जलाए जाने से हवा की विषाक्तता बढ़ जाती है.

    पिछले साल दीवाली के मौक़े पर उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी थी तब कोरट ने कहा था कि एक साल ट्रायल बेसिस पर देखना चाहिए कि पटाखों बिना दीवाली पर प्रदूषण का क्या हाल रहता है.

Reporter : ArunKumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।