​ ​ चक्रवात बुलबुल : प्रधानमंत्री, गृहमंत्री ने ममता से बात की, मदद का आश्वासन दिया (लीड-1)
Friday, December 6, 2019 | 7:42:44 AM

RTI NEWS » PMO India » PMO News


चक्रवात बुलबुल : प्रधानमंत्री, गृहमंत्री ने ममता से बात की, मदद का आश्वासन दिया (लीड-1)

Sunday, November 10, 2019 15:25:03 PM , Viewed: 665
  • नई दिल्ली, 10 नवंबर | पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान 'बुलबुल' द्वारा तबाही मचाने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से फोन पर बात की और हालात का जायजा लिया। मोदी ने टेलीफोन पर बातचीत के जरिए ममता बनर्जी को केंद्र की ओर से हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया।

    उन्होंने ट्वीट किया, "पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बुलबुल चक्रवाती तूफान के सिलसिले में बातचीत हुई। मैं सभी की सुरक्षा और कुशलता की प्रार्थना करता हूं।"

    इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश से फसल और संपत्ति को हुए भारी नुकसान का सामना कर रहे पूर्वी भारत की स्थिति की भी समीक्षा की।

    वहीं गृहमंत्री ने ट्वीट किया, "चक्रवात बुलबुल की चपेट में आने के कारण पूर्वी भारत की स्थिति पर पूरी तरह से निगरानी रखी जा रही है। हम लगातार केंद्रीय और राज्य राहत एजेंसियों के संपर्क में हैं। हमने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को हरसंभव मदद देने को लेकर बातचीत की है। इस प्रतिकूल मौसम का सामना कर रहे मैं उन तमाम लोगों के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।"

    मंत्री ने बताया कि पश्चिम बंगाल में 10 और ओडिशा में 6 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की टीमों को तैनात किया गया है।

    उन्होंने आगे कहा, "18 अतिरिक्त टीमों को तैयार रखा गया है।"

     

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।