​ ​ मशहूर चीनी एप्प टिकटोक फिर से भारत आ सकता है !
Monday, September 21, 2020 | 7:21:01 AM

RTI NEWS » Others » Technology


मशहूर चीनी एप्प टिकटोक फिर से भारत आ सकता है !

Saturday, August 15, 2020 12:39:28 PM , Viewed: 987
  • मशहूर चीनी एप्प टिकटोक फिर से भारत आ सकता है ,  रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज टिकटॉक के भारतीय कारोबार को खरीद सकती है.

    गत माह चीन से आयी रिश्तों में तनातनी केभारत भारत सरकार ने कई चीनी एप्प को बैन कर दिया था जिसमे टिकटोक भी एक था ,

    अब चिकन में भी कोरोना वायरस !

    रिपोर्ट में कहा गया है कि टिकटॉक और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के बीच बातचीत चल रही है. 

    हालांकि, दोनों कंपनियां अभी किसी भी नतीजे  पर नहीं पहुंची हैं. रिलायंस और टिकटॉक की ओर से अब तक मामले पर प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया . कही ये बड़ी बातें.....

    बैन के वक्त टिकटॉक के 30 फीसदी यूजर भारतीय थे और इसकी करीब 10 फीसदी कमाई भारत से होती थी. अप्रैल 2020 तक गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर से टिकटॉक के 2 अरब डाउनलोड किए गए थे. इनमें से करीब 30.3 फीसदी या 61.1 करोड़ डाउनलोड भारत से थे.

    बस कर दें ये नियम , होगी धन की बारिश ।

    मोबाइल इंटेलीजेंस फर्म सेंसर टावर के अनुसार टिकटॉक का डाउनलोड भारत में चीन से भी ज्यादा हो गया है. चीन में टिकटॉक का डाउनलोड सिर्फ 19.66 करोड़ है जो कि उसके कुल डाउनलोड का महज 9.7 फीसदी हिस्सा है.

    घर में करें ये आसान सा बदलाव , दिन-दुगुनी होगी तरक्की

    पिछले सप्ताह अमेरिका ने भी चीनी ऐप टिकटॉक पर बैन को मंजूरी दी थी. हालांकि, अमेरिका ने बाइटडांस को टिकटॉक का अमेरिकी कारोबार किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने के लिए 15 सितंबर तक का समय दिया है. टिकटॉक का अमेरिकी कारोबार खरीदने के लिए माइक्रोसॉफ्ट और ट्वीटर रेस में है.

Reporter : Vikash Kumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।