​ ​ जेल से आएगा स्वच्छता का संदेश, डीआईजी की पहल से बैग बना रहे कैदी
Thursday, November 22, 2018 | 5:11:33 PM

RTI NEWS » Others » History


जेल से आएगा स्वच्छता का संदेश, डीआईजी की पहल से बैग बना रहे कैदी

Sunday, October 7, 2018 18:18:36 PM , Viewed: 753
  • फर्रुखाबादः भले ही प्रषासन अभी पॉलीथीन से पूरी तरह मुक्त न करा पाया हो लेकिन केन्द्रीय कारागार के बन्दियों ने ये साबित कर दिया कि अपराध करने वाले ये हाथ लोगों के हाथों का सहारा भी बन सकते है। पूरे देष में पॉलीथीन मुक्त करने की खबर आते ही फर्रुखाबाद के केन्द्रीय कारागार के डीआईजी वी0पी0 त्रिपाठी ने फतेहगढ़ केन्द्रीय कारागार में कैदियों से बैग बनवाना शुरु कर दिया है। इस बैग की कीमत लगभग 15 रुपये रखी गयी है।

    इस बैग पर स्वच्छ भारत और केन्द्रीय कारागार का लोगो लगाया गया है। इस बाग की खास बात यह है कि ये बैग काफी मजबूत है। और इस बैग को सबसे पहले भगवा कलर में बनाया गया है। और इसका पहला बैग सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजा गया है और उन्होने इस बैग की तारीफ की है और इस काम को आगे बढ़ाने के लिये डीआईजी जेल और कैदियों की सराहना भी की है।

    फतेहगढ़ केन्द्रीय कारागार में अभी शुरुआती दौर में 500 से 600 की तदात में बनाये गये है अब जेल अधिकारी इसको खुले बाजार में बेचने की तैयारी कर रहे है। हालांकि ये काफी सुन्दर बैग है और अब ये बैग उन हाथो से बनाये गये है जिनके हाथ कभी अपराध की दुनिया में इंसानी खून बहाने से नहीं चूके। और अब यही हाथ लोगों के हाथों का सहारा बन उनको सुविधाऐं प्रदान करने के लिये भी उठ गये है। प्रदेष सरकार और जेल प्रषासन की पहल ने ये साफ कर दिया है कि अगर दिषा और मार्गदर्षन ठीक हो। तो लोगों का सहारा बनने में देर नही लगती। ऐसा ही कुछ उन कैदियों ने करके दिखाया है जो कभी खूंखार कैदी के नाम से जाने जाते थे और उनको मार्गदर्षन मिला डीआईजी वीपी त्रिपाठी का।

    वहीं डीआईजी जेल का कहना है कि कैदियों को स्वावलम्बी बनाने के लिये फतेहगढ़ केन्द्रीय कारागार में शुरुआत की गयी है। पाॅलीथीन मुक्त प्रदेष में इन बन्दियों का ये बैग बनाने का कारोबार का एक अलग योगदान होगा। अभी शुरुआती दौर में काम शुरु किया गया वहीं आगे अच्छा रहा तो बड़े पैमाने पर काम किया जायेगा।


     

Reporter : ArunKumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।