​ ​ कपिल ने विश्व कप में मैच रद्द होने और पिचों पर जताई चिंता
Thursday, June 20, 2019 | 11:48:27 PM

RTI NEWS » News » Sports


कपिल ने विश्व कप में मैच रद्द होने और पिचों पर जताई चिंता

Wednesday, June 12, 2019 17:41:12 PM , Viewed: 35
  •  नई दिल्ली, 12 जून | इंग्लैंड एंड वेल्स में इस समय आईसीसी विश्व कप का 12वां संस्करण खेला जा रहा है। अभी 14 दिन का ही समय निकला है और तीन मैच बारिश की भेंट चढ़ चुके हैं और इसी कारण इस विश्व कप ने सबसे ज्यादा मैच रद्द होने वाले विश्व कप का रिकार्ड अपने नाम भी कर लिया है।

     पूरे क्रिकेट जगत में इसे लेकर चर्चा हो रही। भारत को पहला विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव ने इस पर कहा है कि हम खुदा से तो लड़ नहीं सकते, लेकिन इंग्लैंड में इस समय बारिश की समस्या रहती है और आईसीसी को इस पर सोचना चाहिए।

    कपिल ने यहां एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा, "आप खुदा से नहीं लड़ सकते। इंग्लैंड में मैच जब भी होते हैं तो बारिश की समस्या होती है। मुझे नहीं पता कि इसका क्या हल होना चाहिए। आईसीसी में जो लोग बैठे हैं, उन्हें इस बारे में सोचना चाहिए।"

    इस आईसीसी विश्व कप में अधिकतर मैच 300-350 के करीब जा रहे हैं। कपिल से जब इंग्लैंड की पिचों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इंग्लैंड की विकेट फ्लैट हैं लेकिन अगर उन पर घास होती तो अच्छा होता और तब रन करना मुश्किल होता।

    कपिल ने कहा, "ज्यादा चिंता इस बात की है कि इंग्लैंड की पिच इतनी फ्लैट हो गई हैं कि इतने रन बन रहे हैं। इसमें अगर थोड़ी सी घास रख देंगे तो 250 रन भी नहीं बनेंगे। लेकिन, आज के समय की जरूरत है कि ज्यादा चौके-छक्के लगें। आप भी चाहते हो कि गेंदबाजों की पिटाई है। गेंदबाजों के पक्ष से कहूं तो मुझे लगता है कि 60 फीसदी बल्लेबाजों और 40 फीसदी बल्लेबाजों के हित में विकेट हो, लेकिन ऐसा नहीं है। आज कल की पिचें हैं, वो 70-80 फीसदी बल्लेबाजों की हैं।"

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।