​ ​ बाबरी विध्वंस : सुप्रीम कोर्ट आदेश 30 सितम्बर तक फैसला सुनाये विशेष अदालत
Monday, October 26, 2020 | 12:48:05 AM

RTI NEWS » News » National


बाबरी विध्वंस : सुप्रीम कोर्ट आदेश 30 सितम्बर तक फैसला सुनाये विशेष अदालत

Saturday, August 22, 2020 18:50:19 PM , Viewed: 1845
  • सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई कर रहे विशेष जज एस के यादव की ट्रायल की स्टेट्स रिपोर्ट देखने के बाद

    मामले की सुनवाई पूरी करने की समय सीमा को एक महीना बढ़ाकर 30 सितंबर तक कर दिया है.


    इस केस में सीनियर बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और अन्य नेताओं को आरोपी बनाया गया है।

    इससे पहले शीर्ष अदालत ने अपने आखिरी आदेश में फैसला सुनाने के लिए 

    ट्रायल कोर्ट सीबीआई जज को 31 अगस्त तक फैसला सुनाने का समय दिया था। 


    गौरतलब है कि अयोध्या में छह दिसंबर 1992 को 'कारसेवकों' ने मस्जिद ढहा दी थी।

    उनका दावा था कि मस्जिद की जगह पर राम का प्राचीन मंदिर हुआ करता था। 

    राम मंदिर आंदोलन का नेतृत्व करने वाले लोगों में आडवाणी और जोशी भी शामिल थे। 


    पिछले महीने, विशेष अदालत ने दिग्गज भाजपा नेताओं आडवाणी और जोशी के बयान दर्ज करने के लिए वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग का इस्तेमाल किया. 

    सभी ने अभियोजन पक्ष के आरोपों से इनकार किया था और कहा कि उन्हें राजनीतिक कारणों से फंसाया जा रहा है.

     उन्होंने विध्वंस में किसी भी भूमिका से इनकार किया है, 

    और कहा कि उन्होंने ऐसे किसी भी कार्य में भाग नहीं लिया है जो राष्ट्र की एकता और अखंडता को प्रभावित कर सकता है


    उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता कल्याण सिंह को राजस्थान के राज्यपाल के 

    उनके कार्यकाल के सितंबर, 2019 में खत्म होने के बाद इस मुकदमे में एक आरोपी बनाया गया था.


    बता दें की तीन अन्य हाई-प्रोफाइल अभियुक्तों- गिरिराज किशोर, विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक सिंघल और 

    विष्णु हरि डालमिया की मृत्यु मुकदमे की सुनवाई के दौरान हो गई है, इसलिए उनके खिलाफ कार्यवाही समाप्त कर दी गई.



Reporter : Vikash Kumar,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।