​ ​ मंदिर में इस फल को चढ़ाने से भगवान हो जाते हैं नाराज
Thursday, November 22, 2018 | 5:13:43 PM

RTI NEWS » News » Jara Hat Ke


मंदिर में इस फल को चढ़ाने से भगवान हो जाते हैं नाराज

Tuesday, October 9, 2018 16:33:59 PM , Viewed: 96
  • पूजा में भूलकर भी ना चढ़ाए यह फल वरना सब कुछ हो जाएगा नाश
    कहते हैं कि हिंदू धर्म में पूजा पाठ को लेकर बहुत से नियम बने हुए हैं और उनका पालन करना बहुत जरुरी माना जाता है. ऐस में पूजा पाठ में नियमो का पालन करने के साथ ही कुछ ऐसी सावधानियां भी हैं जिनका ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है और अगर हम इन सावधानियों का ध्यान नहीं रखते हैं तो हम कहीं न कहीं पाप के भागीदार बना जाते हैं. आप सभी जानते हे होंगे कि पूजा पाठ में उपयोग होने वाली सामग्री जैसे कि धूप दीप, प्रसाद, फूल और फल इन सबको सबसे जरुरी माना जाता है इसकी वजह यह है कि इन सभी के बिना पूजा संपन्न नहीं होती.

    अब आज हम आपको पूजा पाठ से संबंधित कुछ ऐसी जानकारी देने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आप दंग रह जाएंगे. जी हाँ, कहते हैं कि अगर पूजा पाठ में इसका इस्तेमाल किया जाए तो आपके घर में धन आने के बजाय वापस जा सकता है और साथ ही देवी देवता आपसे क्रोधित हो सकते हैं. अब आप सोच रहे होंगे वह क्या है..? तो यह भी हम आपको बता देते हैं. वैसे हम पूजा पाठ में फल देवी देवता को चढाते हैं लेकिन एक फल ऐसा भी है जिसे पूजा पाठ में नहीं चढाया जाना चाहिए वार्ना लाभ नहीं बल्कि नुकसान हो जाता है. जिस फल की हम बात कर रहे हैं वह है नाशपाती.

    कहते हैं, नाशपाती ऐसा फल है जिसे पूजा पाठ में इस्तेमाल करने से हम मुसीबत में फंस सकते है क्योंकि इस फल का पूजा पाठ में प्रयोग निषेध इस फल के नाम के कारण किया गया है. इस फल के नाम के कारण इसे अशुभ माना जाता है क्योकि इस फल का नाम ही नाशपाती है और इस फल को कभी भी पूजा पाठ में इस्तेमान नहीं करना चाहिए वरना नुकसान हो सकता है.

Reporter : pawan,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।