​ ​ पाकिस्तान : विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री के सेना के बारे में टिप्पणी को 'गैर जिम्मेदाराना' बताया
Thursday, April 9, 2020 | 7:15:09 AM

RTI NEWS » News » International


पाकिस्तान : विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री के सेना के बारे में टिप्पणी को 'गैर जिम्मेदाराना' बताया

Sunday, February 16, 2020 23:37:58 PM , Viewed: 113
  •  इस्लामाबाद, 16 फरवरी | विपक्षी पार्टियों ने प्रधानमंत्री इमरान खान की कथित टिप्पणी पर आपत्ति जाहिर किया, जिसमें उन्होंने कहा कि सेना जानती है कि देश में कौन भ्रष्टाचारी है। विपक्षी पार्टियों ने इस बयान को 'गैर जिम्मेदाराना' करार दिया।

     पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने 'पाकिस्तान के सैन्य और राष्ट्रीय सुरक्षा संस्थानों' के बारे में अपने 'गैर जिम्मेदाराना बयानों' के लिए प्रधानमंत्री के महाभियोग का आह्वान किया।

    इसी तरह जमात-ए-इस्लामी (जेआई) के प्रमुख सीनेटर सिराजुल हक ने कहा कि प्रधानमंत्री का दृढ़ता के साथ कहना कि सेना का उन्हें समर्थन है, 'राष्ट्रीय संस्थान को राजनीति में खींचने के समान है।'

    प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने बनीगला निवास पर पत्रकारों से बात करते हुए कथित तौर पर कहा था कि सेना अच्छी तरह से जानती थी कि न तो वह पैसा कमा रहे हैं और न ही वह भ्रष्ट हैं, क्योंकि वह दिन-रात कड़ी मेहनत कर रहे हैं और इसलिए वह सेना से भयभीत नहीं हैं।

    इमरान खान ने यह बयान एक सवाल पर जवाब देते हुए दिया, जिसमें उनके संस्थान के साथ अच्छे संबंध नहीं होने को लेकर सवाल किया गया था।

    खान ने स्पष्ट किया कि एजेंसियों को पता है कि कौन क्या कर रहा है और यही वजह है कि जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, डरे हुए हैं।

    पीपीपी के महासचिव नैय्यर बोखारी ने एक बयान में कहा कि देशों को राज-नीति के माध्यम से चलाया जाता था, न कि बचकाने तरीके से।

    उन्होंने कहा, "सत्ता के नशे में इमरान खान अपना होश खो चुके हैं। उनका इलाज सिर्फ संसदीय महाभियोग है।"

    इस बीच, शनिवार को बलूचिस्तान में जाफराबाद जिला बार को संबोधित करते हुए, जेआई प्रमुख सिराजुल हक ने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार ने सेना को शर्मिदा करने का काम किया है।

    मानसोरा में जेआई मुख्यालय से जारी एक बयान के अनुसार, हक ने कहा कि किसी देश के प्रधानमंत्री से अपेक्षा होती है कि वह दावा करेगा कि जनता उसके साथ है, न कि सेना।

    उन्होंने कहा कि शासक हमेशा 'गैर जिम्मेदाराना' बयान से नहीं चूकते। उन्होंने कहा कि वे अक्षम हैं और सरकार चलाना नहीं जानते।

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।