​ ​ पाकिस्तान में हिंदू प्रधानाचार्य ईश-निंदा के आरोप में गिरफ्तार
Monday, October 21, 2019 | 9:39:24 AM

RTI NEWS » News » International


पाकिस्तान में हिंदू प्रधानाचार्य ईश-निंदा के आरोप में गिरफ्तार

Monday, September 16, 2019 17:47:29 PM , Viewed: 36
  • इस्लामाबाद, 16 सितंबर | पाकिस्तान के सिंध प्रांत के घोटकी शहर में एक स्कूल के अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के प्रधानाचार्य को ईश-निंदा के आरोप के बाद हुए दंगों के चलते गिरफ्तार कर लिया गया। प्रधानाचार्य नोटन लाल पर आरोप है कि उन्होंने कथित तौर पर ईश-निंदा की और इसके बाद रविवार को उन पर भीड़ ने हमला किया। एक मंदिर और हिंदू समुदायों के मालिकों की पांच दुकानों में भी तोड़-फोड़ की गई।

    सुकुर अतिरिक्त महानिरीक्षक जमील अहमद के अनुसार, सिंध पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले एक विद्यार्थी के पिता अब्दुल अजीज राजपूत ने ईश-निंदा को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज कराई जिसमें उन्होंने कहा कि प्रधानाचार्य ने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की। इसके बाद घोटकी जिले में प्रदर्शन हुए।

    लाल को प्रदर्शन, सड़क जाम और दंगे के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

    पुलिस अधिकारी ने कहा, "स्थिति नियंत्रण में है। आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई है और कानूनी प्रक्रिया के माध्यम से न्याय होगा।"

    विवादित धार्मिक नेता अब्दुल हक उर्फ मियां मिट्ठू की प्रांत में कथित तौर पर हिंदू लड़कियों के धर्म परिवर्तन कराने में प्रमुख भूमिका रही है। बताया जाता है कि घोटकी में दंगे करवाने में उसके समर्थकों की संलिप्तता रही है।

    दंगे का नेतृत्व मियां मिट्ठू का बड़ा भाई मियां असलम कर रहा था। हालांकि मियां मिट्ठू ने कहा कि हिंसा में उनकी संलिप्तता नहीं रही है। उन्होंने कहा, "मैंने प्रदर्शन का नेतृत्व नहीं किया।"

     

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।