​ ​ उप्र : दलित बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म के बाद मसुरी गांव में तनाव
Friday, July 20, 2018 | 6:08:31 PM

RTI NEWS » News » International


उप्र : दलित बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म के बाद मसुरी गांव में तनाव

Thursday, July 12, 2018 18:55:11 PM , Viewed: 43
  • बांदा, 12 जुलाई | उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के गिरवां थाना क्षेत्र के मसुरी गांव में मंगलवार और बुधवार की रात दो शराबी युवकों द्वारा चार की एक दलित बच्ची का अपहरण कर उसके साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किए जाने की घटना के बाद से स्थिति तनावपूर्ण है।

    गांव में भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। बेहोश पाई गई बच्ची कानपुर के हैलेट अस्पताल में भर्ती है। ग्रामप्रधान राजा सिंह यादव ने गुरुवार को बताया कि गांव में अब भी बेहद तनाव की स्थिति बनी हुई है। ग्रामीण कभी भी आक्रोशित होकर गलत कदम उठा सकते हैं।

    उन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद भी ग्रामीणों का गुस्सा शांत नहीं हुआ। वे पुलिस की मौजूदगी में आरोपियों के घरों में दो बार आग लगाने की कोशिश कर चुके हैं।

    नरैनी के पुलिस क्षेत्राधिकारी ओमप्रकाश ने बताया कि गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए बुधवार से ही भारी पुलिस बल तैनात है और स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

    गौरतलब है कि मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात गांव के दो युवक शराब के नशे में घर के बाहर सो रही चार साल की एक दलित बच्ची का अपहरण कर उसके साथ कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। पुलिस ने हालांकि मौके पर पहुंचकर दोनों आरोपी लल्लू माली (26) और नत्थू शर्मा (30) को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से बच्ची को बेहोशी की हालत में मुक्त करा लिया था। इस समय बच्ची कानपुर के हैलेट अस्पताल में जिंदगी के लिए संघर्ष कर रही है।

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।