​ ​ थाई गुफा को संग्रहालय में तब्दील किया जाएगा
Tuesday, September 25, 2018 | 1:54:44 AM

RTI NEWS » News » International


थाई गुफा को संग्रहालय में तब्दील किया जाएगा

Thursday, July 12, 2018 14:53:42 PM , Viewed: 64
  • बैंकाक, 12 जुलाई | उत्तरी थाईलैंड की जिस गुफा में 12 बच्चे और उनके फुटबॉल कोच दो हफ्ते से ज्यादा समय तक फंसे रहे थे, उसे अब संग्रहालय में तब्दील किया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट से गुरुवार को यह जानकारी मिली। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, बचाव अधिकारियों ने कहा कि संग्रहालय में यह दिखाया जाएगा कि कैसे थाम लुआंग गुफा में यह अभियान चलाया गया। यह थाईलैंड में एक बड़ा आकर्षण का केंद्र होगा।

    कम से कम दो फिल्म कंपनियां इस बचाव अभियान पर फिल्म बनाने की भी तैयारी कर रही हैं।

    बचाए गए सभी बच्चे और कोच अभी अस्पताल में हैं।

    एक वीडियो रिलीज किया गया, जिसमें दिखाया गया है कि बच्चे स्वस्थ हैं। लेकिन, उन्हें अभी एक सप्ताह और डॉक्टरों की निगरानी में रहना पड़ेगा।

    थाई नैवी सील ने भी अभियान का फुटेज जारी किया है, जिसमें दिखाया गया है कि कैसे विशेषज्ञों ने वाइल्ड बोर फुटबॉल टीम के सदस्यों को मुश्किल अभियान के बाद गुफा से बाहर निकाला।

    राहत अभियान के प्रमुख और पूर्व गवर्नर नारोंगस्क ओसोटानकोर्न ने बताया, क्षेत्र को जीवंत संग्रहालय बनाया जाएगा, यह दिखाने के लिए कि कैसे अभियान चलाया गया।

    उन्होंने कहा, एक इंटरैक्टिव डाटा बेस स्थापित किया जाएगा। यह थाईलैंड के लिए एक बड़ा आकर्षण का केंद्र बनेगा।

    बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री प्रयुथ चान-ओछा ने कहा है कि पर्यटकों की सुरक्षा के लिए गुफा के बाहर और अंदर एहतियाती उपाय किए जाएंगे।

    थाईलैंड की सबसे लंबी गुफाओं में से एक थाम लुआंग देश के उत्तर में स्थित चियांग रे प्रांत के कस्बे माए साई के पास है। यह इलाका पिछड़ा हुआ है और यहां पर्यटकों के लिए बहुत कम सुविधाएं हैं।

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।