​ ​ फ्रांस के रेलवे स्टेशनों की हवा को शुद्ध करेगी भारतीय प्रौद्योगिकी से बनी मशीन
Monday, February 17, 2020 | 4:53:27 AM

RTI NEWS » News » Business


फ्रांस के रेलवे स्टेशनों की हवा को शुद्ध करेगी भारतीय प्रौद्योगिकी से बनी मशीन

Friday, January 24, 2020 23:56:13 PM , Viewed: 172
  •  नई दिल्ल्ली, 24 जनवरी | भारत की एक प्रौद्योगिकी कंपनी ने अशुद्ध हवा को शुद्ध करने वाली एक ऐसी मशीन बनाई है, जिसे फ्रांस के रेलवे स्टेशनों पर लगाई जाएगी।

     साथ ही, इसे देश में भी सार्वजनिक स्थलों, मसलन रेलवे स्टेशनों, मेट्रो, बस अड्डों पर लगाने की कंपनी की योजना है। यह जानकारी कंपनी के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ सिद्धार्थ दीक्षित ने शुक्रवार को यहां संवाददाताओं को दी। सिद्धार्थ दीक्षित ने बताया कि मशीन देसी प्रौद्योगिकी से विकसित गई है और इसमें उच्च आयनीकरण प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें फिल्टर बार-बार बदलने की जरूरत नहीं होती है।

    दीक्षित ने बताया कि यह मशीन 'मेक-इन इंडिया' की पहल की सफलता है जिसे फ्रांस की रेलवे ने सराहा है।

    उन्होंने बताया, "इस क्षेत्र में एमिडा क्लीनटेक एशिया की एकमात्र ऐसी कंपनी है, जिसकी वायु-शुद्धिकरण प्रौद्योगिकी को फ्रेंच रेलवे एसएनसीएफ ने मान्यता प्रदान की है। परीक्षण के बाद अब शुरुआती चरण में फ्रांस के 50 रेलवे स्टेशनों पर लगाई जाएगी जबकि अगले चरण में इसे बढ़ाकर 300 स्टेशनों तक किया जाएगा।

    उन्होंने बताया कि इस मशीन द्वारा वायु में मौजूद पीएम-2.5, पीएम-10 समेत अन्य प्रदूषण कणों को निकालकर वायु को शुद्ध किया जाता है।

    उन्होंने बताया कि आगे देश के हवाई अड्डे, बस टर्मिनल, रेलवे स्टेशन, पार्किं ग, गैरेज, शहरी टनल्स समेत स्कूल, संग्रहालय, पार्क , अस्पताल व अन्य स्थानों पर इसे लगाने के प्रयास किए जाएंगे।

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।