​ ​ एनईसी की मदद से चेन्नई से अंडमान के बीच सबमरीन केबल सिस्टम लगाएगा बीएसएनएल
Wednesday, September 26, 2018 | 1:33:04 AM

RTI NEWS » News » Business


एनईसी की मदद से चेन्नई से अंडमान के बीच सबमरीन केबल सिस्टम लगाएगा बीएसएनएल

Thursday, July 12, 2018 17:08:53 PM , Viewed: 137
  • नई दिल्ली, 12 जुलाई | भारत सरकार के उद्यम भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने एनईसी टेक्नोलॉजीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एनईसीटीआई) के माध्यम से चेन्नई और अंडमान निकोबार द्वीपों को जोड़ने वाले ऑप्टिकल सबमरीन केबल सिस्टम को तैयार करेगा।

    बीएसएनएल ने इसके लिए डिजाइन, इंजिनियरिंग, आपूर्ति, स्थापन, परीक्षण और लागूकरण का काम एनईसीटीआई को दिया है। एनईसीटीआई की मूल कंपनी एनईसी कॉपोर्रेशन ऑप्टिकल सबमरीन केबल का उत्पादन करेगी और इस महत्वपूर्ण कार्यान्वयन के दौरान तकनीकी सहयोग प्रदान करेगी।

    यह अनुबंध एक प्रणाली के लिये है, जिसमें चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर तक रीपीटर्स का सेगमेंट है और रीपीटर्स के बिना सात सेगमेंट हैं, जो हेवलॉक, लिटिल अंडमान (हटबे), कार निकोबार, कामोर्टा, द ग्रेट निकोबार आइलैण्ड्स, लॉन्ग आईलैण्ड और रंगत द्वीपों के बीच हैं। केबल की कुल लंबाई लगभग 2300 किलोमीटर होगी, जो 100जीबी/एस ऑप्टिकल वेव्स का वहन करेगी।

    बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने कहा, इस प्रतिष्ठित परियोजना के क्रियान्वयन के लिये एनईसी का चयन कर बीएसएनएल प्रसन्न है। इस क्षेत्र में एनईसी की तकनीकी विशेषज्ञता और परियोजना का सफल निष्पादन सुनिश्चित करने के लिये समय-सीमा को लेकर उनकी प्रतिबद्धता पर हमें पूरा भरोसा है। इस परियोजना से अंडमान द्वीपों को उच्च क्षमता वाली कनेक्टिविटी मिलेगी और इस क्षेत्र में विकास के नये युग की शुरूआत होगी।

    एनईसीटीआई के प्रबंध निदेशक ताकायुकी इनाबा ने कहा, राष्ट्रीय महत्व की इस परियोजना के क्रियान्वयन का अवसर मिलना एनईसीटीआई के लिये अत्यंत खुशी और गर्व का विषय है। एनईसी की तकनीकी विशेषज्ञता और इस क्षेत्र में कई जटिल परियोजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लंबे इतिहास को देखते हुए हमें पूरा भरोसा है कि हम इस परियोजना का भी सफल निष्पादन करेंगे।

Reporter : ,
RTI NEWS


Disclaimer : हमारी वेबसाइट और हमारे फेसबुक पेज पर प्रदर्शित होने वाली तस्वीरों और सूचनाएं के लिए किसी प्रकार का दावा नहीं करते। इन तस्वीरों को हमने अलग-अलग स्रोतों से लिया जाता है, जिन पर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है। यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा इस्तेमाल की गई कोई भी तस्वीर आपके कॉपीराइट का उल्लंघन करती है तो आप यहां अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं- rtinews.net@gmail.com

हमें आपकी प्रतिक्रियाओं की प्रतीक्षा है। हम उस पर अवश्य कार्यवाही करेंगे।


दूसरे अपडेट पाने के लिए RTINEWS.NET के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।